home page

Driving Safety Tips: सड़क पर कार दौड़ाने से पहले फाॅलो करें ये 5 नियम, हादसे की आशंका होगी कम

वाहन ड्राइविंग करते समय सभी के लिए जरूरी है कि ट्रैफिक सिग्नल (Traffic signal) पर दिखने वाली लाइट्स का पालन करें। ऐसा करने से सड़क पर चल रहे अन्य वाहनों को भी लें बदलने में सुविधा होगी
 |  | 1663753345173
file

Driving Safety Tips: हर साल दुनियाभर में सड़क हादसों के मामले बड़ी संख्या में सामने आते है जिससे जान-माल की बड़ी हानि होती है। अक्सर गाड़ी चलाने वालों की छोटी-छोटी गलतियां बड़े हादसे का रूप ले लेती है। कई बार आप सही ड्राइविंग (Driving) करते हैं लेकिन किसी की लापरवाही से आपको भी गलती का खामियाज़ा भुगतना पड़ता है। अगर ड्राइविंग करते समय कुछ सावधानियां बरती जाये तो हादसों की संख्या को कम किया जा सकता है। आज हम आपको कुछ ऐसी ही पांच बातें बता रहे हैं  जिनका पालन करने से सड़क हादसों को कम किया जा सकता। 

ट्रैफिक सिग्नल लाइट्स (Traffic signal lights) का करें पालन
वाहन ड्राइविंग करते समय सभी के लिए जरूरी है कि ट्रैफिक सिग्नल (Traffic signal) पर दिखने वाली लाइट्स का पालन करें। ऐसा करने से सड़क पर चल रहे अन्य वाहनों को भी लें बदलने में सुविधा होगी और साथ ही उन्हें दूसरी साइड के वाहनों के मूव्स कि भी जानकारी होगी। 

ओवरस्पीडिंग (Over speeding) से जरूर बचें
वाहन चलाते समय अक्सर तेज स्पीड से बचना चाहिए जिससे जरूरत पड़ने पर अपने वाहन कि स्पीड को आसानी से कंट्रोल किया जा सके। तेज स्पीड वाहन में अचानक ब्रेक लगाने से दुर्घटना कि संभावना ज्यादा रहती है। 

उचित दूरी बना कर रखें 
सड़क पर वाहन चलाते समय अपने आगे और पीछे के वाहनों से उचित दूरी बना कर रखनी चाहिए। ड्राइविंग करते समय अगर आप ब्लाइंड स्पॉट्स (Blind spots) पर उचित दूरी बनाकर रखते हैं तो गड़बड़ होने की स्थिति में आपको रिएक्शन टाइम अधिक मिल जाता है। 

सीट बेल्ट (Seat Belt) जरूर पहने 
ड्राइविंग करते समय सीट बेल्ट पहने की आदत जरूर बनाये। अगर आपको सीट बेल्ट पहनने की डाटा है तो ये आपके लिए बहुत ही फ़ायदेमंद होगा। अचानक वाहन में होने वाले क्रैश की स्थिति में सीट बेल्ट पहनने कि वजह से आप गंभीर चोट से बच सकते है। 

कार सर्विसिंग (Car servicing) समय पर कराते रहें
अगर आप भी ड्राइविंग करते है तो आपको अपने वाहन का ध्यान रखना चाहिए। ये जरूरी नहीं कि जिस वाहन को आप चला रहे है वो पूरी तरह से सुरक्षित है। वाहन की कैपेसिटी बढ़ाने के लिए उसकी समय समय पर सर्विसिंग कराते रहना चाहिए।

और पढ़िए  –

 हेल्थ से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

 बिजनेस से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

Tags