home page

Airport Security : अब एयरपोर्ट पर नहीं होना होगा ज्यादा परेशान, इस तकनीक से यात्रियों को तुरंत मिलेगी हेल्प

Airport Security : अब एयरपोर्ट पर नहीं होना होगा ज्यादा परेशान, इस तकनीक से यात्रियों को तुरंत मिलेगी हेल्प

 |  | 1663151449844
Airport Security

Airport Security : उद्योगपति गौतम अडानी के नेतृत्व वाले अदानी समूह ने विजुअल एआई तकनीक के लिए प्रिज्मा एआई के साथ करार किया है। इस नई तकनीक को सबसे पहले गुजरात के सरदार वल्लभभाई पटेल अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर लगाया जाएगा। हालांकि, इसे अदाणी समूह के नियंत्रण वाले सभी 6 हवाई अड्डों पर तैनात किया जाएगा।

नई तकनीक का प्रयोग
उद्योगपति गौतम अडानी के नेतृत्व वाले अदानी समूह ने विजुअल एआई टेक्नोलॉजी के लिए प्रिज्मा एआई के साथ करार किया है। इस नई तकनीक को सबसे पहले गुजरात के सरदार वल्लभभाई पटेल अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर लगाया जाएगा। हालांकि, इसे अदाणी समूह के नियंत्रण वाले सभी 6 हवाई अड्डों पर तैनात किया जाएगा।

अच्छाई प्रणाली का डेस्क
आपको बता दें कि इस तकनीक को 'डेस्क ऑफ गुडनेस सिस्टम - डेस्क ऑफ गुडनेस सिस्टम' के नाम से जाना जाता है। देश में पहली बार इसे सरदार वल्लभभाई पटेल अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के टर्मिनल-1 पर प्रस्थान और पूर्व सुरक्षा क्षेत्र में स्थापित किया गया है। उनका कहना है कि 'डेस्क ऑफ गुडनेस' वरिष्ठ नागरिकों, छोटे बच्चों वाली महिलाओं और व्हीलचेयर या किसी सहायता की जरूरत वाले लोगों की मदद करेगी।इसके अलावा यह किसी भी यात्री के संदिग्ध रवैये को भी नोटिस करेगा। मालूम हो कि अडानी ग्रुप ने साल 2019 में एयरपोर्ट संचालन के क्षेत्र में कदम रखा था.

यात्रियों को मिलेगा लाभ
अडानी ग्रुप का कहना है कि इस तकनीक से लोगों को उनके हर एयरपोर्ट पर फायदा होगा. इस तकनीक की मदद से यात्रियों की बढ़ती संख्या के बीच उनके लिए बेहतर एयरपोर्ट अनुभव सुनिश्चित होगा। कंपनी का कहना है कि प्रिज्मा एआई के साथ हुए इस समझौते से अदाणी समूह ने एयरपोर्ट पर मानवीय सहायता के लिए विजुअल एआई का इस्तेमाल करने का लक्ष्य हासिल कर लिया है।

कई इलाकों में दी गई सुरक्षा सेवाएं
प्रिज्मा एआई ने विजुअल एआई एल्गोरिदम के माध्यम से विभिन्न क्षेत्रों में सुरक्षा और दक्षता को मजबूत किया है। एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार, यह तकनीक ऑपरेशनल इंटेलिजेंस के लिए नए मानक स्थापित करती है और जागरूकता, सुरक्षा और दक्षता बढ़ाने में भी मदद करती है। यह तकनीक न केवल अदाणी हवाईअड्डे पर यात्रियों को सुरक्षा का अहसास कराएगी बल्कि उन्हें हवाईअड्डे का बेहतरीन अनुभव भी देगी।

और पढ़िए – 

खेल से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

 मनोरंजन  से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें 

Tags