home page

Indian Railways: ISRO ने तैयार की ऐसी तकनीक जिससे अब ट्रेनें कभी नहीं होंगी लेट

Indian Railways: ISRO ने तैयार की ऐसी तकनीक जिससे अब ट्रेनें कभी नहीं होंगी लेट

 |  | 1664011094027
Indian Railways

Indian Railways: रेल यात्रियों के लिए जरूरी खबर। अब आपको टिकट कन्फर्म होने के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा। अब आपको चलती ट्रेन में वेटिंग या आरएसी टिकट की पुष्टि के लिए टीटी से अनुरोध नहीं करना पड़ेगा। रेल मंत्रालय के एक फैसले से ट्रेनों में वेटिंग (विंडो टिकट) और आरएसी टिकट पर यात्रा करने वाले हजारों यात्रियों को बड़ी राहत मिली है.लेट होने के कारण चर्चा में रहा भारतीय रेलवे धीरे-धीरे बड़े सुधार कर रहा है। अब उन्होंने अपना ध्यान ट्रेनों की टाइमिंग सुधारने पर लगाया है. अगर रेलवे की पहल सफल होती है तो आने वाले समय में देश में कोई भी ट्रेन लेट नहीं चलेगी और यात्रियों को इसकी रियल टाइम लोकेशन मिल जाएगी।

2700 ट्रेनों में लगाई आधुनिक तकनीक
रेलवे के मुताबिक, इस आधुनिक तकनीक के तहत रेलवे के 2700 इंजनों में रियल टाइम ट्रेन इंफॉर्मेशन सिस्टम (RTIS) उपकरण लगाए गए हैं. यह टूल हर 30 सेकेंड में अपडेट देता रहेगा। इससे ट्रेनों और यात्रियों में ऑटोमेटिक चार्टिंग की ताजा स्थिति की जानकारी मिल सकेगी। वर्तमान में लगभग 6500 लोकोमोटिव जीपीएस से लैस हैं।जिसका फीड सीधे कंट्रोल ऑफिस एप्लिकेशन को भेजा जाता है। इस वजह से सिर्फ रेलवे के अधिकारी ही ट्रेनों की लोकेशन चेक कर पाते हैं, बाकी आम यात्रियों को इसकी जानकारी नहीं मिल पाती है.

ट्रेन के हर मूवमेंट की मिलेगी जानकारी
इस कमी को दूर करने के लिए इसरो के सहयोग से रीयल टाइम ट्रेन इंफॉर्मेशन सिस्टम (RTIS) टूल विकसित किया गया है। इससे किसी स्टेशन से ट्रेनों के आगमन, प्रस्थान और गुजरने की रीयल-टाइम जानकारी रेलवे प्रणाली और यात्रियों को स्वतः उपलब्ध हो जाएगी।

यात्री रेलवे से भी कर सकेंगे जांच
रेल मंत्रालय के मुताबिक आरटीआईएस 30 सेकेंड के अंतराल पर अपडेट मुहैया कराता है। इसके जरिए अब ट्रेनों की गति और लोकेशन पर पैनी नजर रखी जा सकेगी। मंत्रालय का कहना है कि 2700 इंजनों में आरटीआईएस उपकरण लगाए गए हैं। दूसरे चरण में इसरो के सैटकॉम हब का इस्तेमाल करते हुए 6000 और इंजन इस योजना में शामिल किए जाएंगे।

और पढ़िए  –

 हेल्थ से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

 बिजनेस से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

Tags