home page

RBI: आरबीआई ने किया बड़ा ऐलान, SBI, HDFC और ICICI बैंक के ग्राहकों के लिए खुशखबरी, जानिए पूरी डिटेल

SBI, HDFC और ICICI बैंक के ग्राहकों को खुशखबरी देते हुए रिज़र्व  बैंक ने बड़ा ऐलान किया है। 1 नवंबर से बड़ी डील में यूज होने वाले डिजिटल रुपये का पायलट प्रोजेक्ट को रिजर्व बैंक (RBI) लॉन्च किया है। 
 |  | 1668437680846
file

RBI Digital Currency: SBI, HDFC और ICICI बैंक के ग्राहकों को खुशखबरी देते हुए रिज़र्व  बैंक ने बड़ा ऐलान किया है। 1 नवंबर से बड़ी डील में यूज होने वाले डिजिटल रुपये का पायलट प्रोजेक्ट को रिजर्व बैंक (RBI) लॉन्च किया है। आरबीआई ने इसके लिए केवल देश के नौ बैंकों को ही सेलेक्ट किया है, जिसमें स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI), बैंक ऑफ बड़ौदा (BoB), यूनियन बैंक, HDFC बैंक, ICICI बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, IDFC फर्स्ट बैंक और HSBC बैंक शामिल है। 

क्या कहा RBI ने 
आरबीआई ने ऐलान किया है कि डिजिटल रुपये का यूज पहले बड़े पेमेंट और सेटलमेंट के लिए ही किया जाएगा। रिजर्व बैंक की ओर से मिली जानकारी के अनुसार, डिजिटल रुपये (Digital Currency) का यूज पहले सरकारी सिक्योरिटीज़ यानि सरकारी बॉन्ड आदि की खरीद और बिक्री पर होने वाली रकम के लिए होगा। वहीं, रिजर्व बैंक ने कहा है कि एक महीने के अंदर खुदरा लेनदेन के लिए भी डिजिटल रुपये का पायलट प्रोजेक्ट लॉन्च हो जाएगा।

डिजिटल करेंसी है क्या 
आपको बता दें, सरकार ने क्रिप्टो करेंसी के बढ़ते शोर के कारण बजट में सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी लाने कि घोषणा की है। सरकार की घोषणा के बाद आरबीआई (RBI) ने डिजिटल रुपया लॉन्च करने का स्ट्रक्चर तैयार किया। रिजर्व बैंक का डिजिटल रुपया पूरी तरह वैलिड होगा ना कि क्रिप्टो करेंसी (Cripto Currency) की तरह इनवैलिड। आपको बता दें, क्रिप्टो में करेंसी की कीमत घटती बढ़ती रहती है, जबकि डिजिटल रुपये में ऐसा नहीं होगा। जिस प्रकार फिजिकल नोट की छपाई के बदले में अलग से राशि बतौर सिक्योरिटी रखी जाती है। उसी प्रकार डिजिटल रुपये के पिछली ओर भी अलग से रिजर्व बैंक सुरक्षा के लिए रकम रखेगा, क्योंकि ये डिजिटल रुपया आरबीआई की देनदारी होगा। वहीं, इस डिजिटल रुपये में फिजिकल नोट वाली भी सभी फीचर्स शामिल होंगे। जिसके बाद नागरिकों को डिजिटल से फिजिकल में बदलने में कोई परेशानी नहीं होगी। आपको बता दें, फिलहाल डिजिटल रुपये के लिए अलग से बैंक में खाता खुलवाने की जरूरत नहीं होगी। 

क्या खास है डिजिटल रुपये की खासियत 
आरबीआई के द्वारा जारी किया गया डिजिटल रुपया दो तरह से लॉन्च होगा। पहला बड़ी रकम के लेनदेन के लिए, जिसका नाम सेंट्रल बैंक डिजिटल करेंसी (Central Bank Digital Currency) व्होलसेल होगा। 1 नवंबर से आईबीआई ने पहले इसी डिजिटल रुपये की शुरुआत की है, जिसका यूज बैंक,बड़ी नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनियां और दूसरे बड़े सौदे करने वाले संस्थान कर सकते हैं। पायलट प्रोजेक्ट के तौर ये पहले कुछ ही सिलेक्टेड जगहों और बैंकों में शुरू किया जाएगा। हालांकि इसका यूज प्रतिदिन के लेनदेन के लिए भी किया जा सकता है। पायलट प्रोजेक्ट में सभी आयुवर्ग के लोगों को शामिल किया जाएगा और उसके बाद एक्सपीरियंस के आधार पर इसके फीचर्स में बदलाव किया जा सकता है। 
 

Tags