home page

Yoga Tips for Winter: सर्दियों में शरीर को गर्म रखेंगे करें ये 4 आसान योगासन,नहीं पड़ेगी मोटे स्वेटर पहनने की भी जरूरत

 |  | 1668475652496
health

Winter Yoga Tips To Keep Body Naturally Warm: सर्दी का मौसम (Winter Season) आते ही हम सभी इस ठंड के मौसम में खुद को गर्म रखने के लिए तरह-तरह के प्रयास करते हैं। हालांकि, बिस्तर पर अपने पसंदीदा गर्म पेय का एक कप पीने के अलावा, शरीर को गर्म रखने के अन्य तरीके भी हैं। नहीं, हम गर्म भोजन या कपड़ों की अधिक परतों की बात नहीं कर रहे हैं, बल्कि शारीरिक गतिविधि (Physical Movement) की बात कर रहे हैं। सर्दियों में फिट और गर्म रहने के लिए सर्दियों में योग करने से बेहतर तरीका और क्या हो सकता है? योग फिटनेस और अभ्यास का एक रूप है जिसके मन, शरीर और आत्मा के लिए कई लाभ हैं। योग न केवल वजन कम करने का एक प्रभावी तरीका है, बल्कि यह उपचार का एक विज्ञान भी है जो गर्मी की एक अतिरिक्त सुरक्षात्मक परत जोड़ सकता है जिसकी आपको सर्दियों के दौरान आवश्यकता होती है। योग का अभ्यास घर पर प्रभावी ढंग से किया जा सकता है।

यहां हम आपको ऐसे ही 4 योग आसनों के बारे में बताने जा रहे हैं जो आपको सर्दी के मौसम में फिट रखने के साथ-साथ प्राकृतिक रूप से गर्म भी रखेंगे।

सर्दियों में गर्म रहने के लिए करें ये 4 योग आसन

1. वशिष्ठासन (Vasisthasana)- इस मुद्रा को साइड प्लैंक पोज के नाम से भी जाना जाता है। आप इस अभ्यास को निम्न चरणों में कर सकते हैं:

  • अपने हाथों से योगा मैट पर बैठ जाएं और अपने पैरों को सीधा फैला लें।
  • हाथ की ताकत का उपयोग करते हुए, अपने शरीर को अपनी तरफ उठाएं ताकि आपका शरीर फर्श से 45 डिग्री के कोण पर हो।
  • दूसरे हाथ को सीधे हवा में ऊपर उठाएं।
  • दूसरे पैर को उस पैर पर टिकाएं जो फर्श के संपर्क में हो।

2. नौकासन (Naukasana)- इस मुद्रा को बोट पोज के नाम से भी जाना जाता है। आप इस अभ्यास को निम्न चरणों में कर सकते हैं:

  • योगा मैट पर लेट जाएं।
  • अपने पैरों को फैलाएं और उन्हें ऊपर उठाएं।
  • सुनिश्चित करें कि आपके पैर फर्श से 45 डिग्री के कोण पर हैं।
  • अपने कूल्हों को पिवोट्स के रूप में उपयोग करके अपने ऊपरी शरीर को ऊपर उठाएं।
  • अपने हाथों को फैलाकर सीधा रखें।
  • आपकी स्थिति n उल्टे 'A' के समान होनी चाहिए।

3. सिरसासन (Sirsasana)- इस मुद्रा को हेडस्टैंड पोज के नाम से भी जाना जाता है। आप इस अभ्यास को निम्न चरणों में कर सकते हैं:

  • इस आसन के लिए आप किसी दीवार का सहारा ले सकते हैं।
  • अपनी कोहनियों को फर्श पर टिकाएं और अपना सिर उनके बीच रखें।
  • अब अपने निचले शरीर को इस तरह फैलाएं कि वह उल्टा हो जाए और सीधे दीवार से सटा हो।
  • इसे संतुलित करें ताकि आप गिरें नहीं।
  • फिर दीवार के सहारे को छोड़ दें और कम से कम 5 मिनट तक इसी मुद्रा में रहें।

4. शवासन (Savasana)- इस मुद्रा को कॉर्प्स पोज के नाम से भी जाना जाता है। आप इस अभ्यास को निम्न चरणों में कर सकते हैं:

  • योगा मैट पर लेट जाएं।
  • शरीर को आराम दें और सिर से पैर की उंगलियों तक अपने शरीर पर ध्यान देना शुरू करें।
  • आप अपने शरीर से निकलने वाले तनाव को महसूस करेंगे।
  • इस मुद्रा में 10 से 20 मिनट तक रहें।

Disclaimer: खबर में दी गई जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है। हालांकि इसकी नैतिक जिम्मेदारी द Midpost की  नहीं है। आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से जरूर संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

Tags