home page

Chanakya Niti: इन बातों को ध्यान में रखकर शुरू करें बिजनेस, जल्द मिलेगी तरक्की

 |  | 1663893003000
Chanakya Niti

Chanakya Niti: आज के समय में नौकरी पाना आसान नहीं है। कई बार लक्ष्यों को पूरा करने में दबाव इतना बढ़ जाता है कि व्यक्ति खुद में ही निराश हो जाता है और काम को बोझ की तरह ढोता है। इसके अलावा नौकरी की तनख्वाह से ही आप अपनी जरूरतें पूरी कर सकते हैं, सिर्फ नौकरी करने से लग्जरी लाइफ नहीं मिल सकती। यही कारण है कि आज के समय में लोगों का रुझान व्यापार की ओर बढ़ रहा है। लेकिन व्यापार में आपको अपनी पूंजी लगानी होगी इसलिए किसी को देखकर या किसी की बातों में आकर व्यापार न करें।
जब आपको खुद लगे कि आप बिजनेस को बेहतर तरीके से संभालने में सक्षम हैं, तो इसके बारे में सोचें, ताकि आपको बाद में किसी तरह का पछतावा न हो। अगर आपने बिजनेस करने का मन बना लिया है तो आचार्य चाणक्य की 5 बातों का ध्यान रखें। चाणक्य नीति में बताई गई ये बातें आपके व्यवसाय के मामले में काफी उपयोगी साबित हो सकती हैं।

जरूर सोचें फायदा और नुकसान

आचार्य चाणक्य (Acharya Chanakya) ने कहा कि आप जो भी काम शुरू करने जा रहे हैं, उसके बारे में आपको अच्छे से पता होना चाहिए। व्यापार, प्रतियोगी आदि के लिए सही जगह से संबंधित पूरी जानकारी होनी चाहिए। इसके लिए पहले बाजार को अच्छी तरह से समझ लें। इसके अलावा आपके पास पूरा बिजनेस प्लान (Business Plan) होना चाहिए यानी आपका नजरिया एकदम साफ होना चाहिए। साथ ही फायदे और नुकसान का आकलन करना भी जरूरी है। अपने आप से प्रश्न पूछें कि यदि किसी कारण से व्यवसाय नहीं चल पा रहा है, तो क्या आप उसका नुकसान सहन कर पाएंगे?

लोगों की बातों को करें अनसुना

आचार्य का मानना ​​था कि जब आप कोई भी काम शुरू करते हैं, तो शुरुआत में आपको ऐसे कई लोग मिलेंगे जो आपका मनोबल गिराने की बात करेंगे। ऐसे नकारात्मक लोगों पर ध्यान न दें। अगर आपको लगता है कि आप अपना काम अच्छे से कर रहे हैं और आप जरूर सफल होंगे तो पूरे समर्पण के साथ काम करते रहें।

अपना काम दूसरों को न बताएं

अगर आप कोई नया काम शुरू करने की सोच रहे हैं तो दूसरों को भी इसके बारे में न बताएं। अपनी योजना को दूसरों के साथ साझा न करें। कई ऐसे लोग भी हैं जो आपसे नफरत करते हैं, जो आपके काम में बाधा डालने की कोशिश करते हैं।

बिजनेस शुरू होने के बाद बीच में न रोकें

यदि आपने पहले ही कोई काम शुरू कर दिया है तो उसे पूरी लगन से करें, दूसरों की बातों से प्रभावित होकर काम को न रोकें। ध्यान रखें कि पौधे को बढ़ने में कुछ समय लगता है। आपके व्यापार में भी थोड़ा समय लगेगा इसलिए आप में धैर्य का होना बहुत जरूरी है। अपना काम पूरी मेहनत और लगन से करें। आचार्य का मानना ​​था कि आगे बढ़ने के लिए कई बार आपको कठिन फैसले लेने के लिए जोखिम उठाना पड़ता है।

Tags