home page

Health Tips: व्रत में साबूदाना क्यों माना जाता है बेस्ट फूड़, क्या होता है वजन कम!

 |  | 1663150643024
healthy tips

Health Tips: भारतीय घरों में व्रत के समय ज्यादातर साबूदाने का इस्तेमाल किया जाता है। इसका इस्तेमाल खीर, साबूदाना वड़ा, साबूदाना खिचड़ी जैसी कई तरह की डिशेज बनाई जाती है। कई लोग तो बिना व्रत के भी खाना पसंद करते हैं। ऐसे में सवाल उठता है कि व्रत में साबूदाना क्यों खाया जाता है। तो इसकी मुख्य वजह ये है कि साबूदाना अन्न नहीं है और इसमें कैलोरी काफी ज्यादा होती है। इसे खाने के बाद काफी टाइम तक भूख नहीं लगती। कई लोगों का मानना है कि साबूदाना खाने से वजन कम होता है, जबकि इश बात में कोई सच्चाई नहीं है।

एक कप साबूदाने में कैलोरी

साबूदाना कार्बोहाइड्रेट और स्टार्च है। कार्ब्स हमारे शरीर को एनर्जी देते हैं इसलिए जरूरी होते हैं। लेकिन अगर आप वजन कम कर रहे हैं तो ये आपके लिए सही फूड नहीं है। हम जब वजन कम करते हैं तो कैलोरी लेना कम करते हैं। वहीं साबूदाना हाई कैलोरी फूड है। एक कप साबूदाने में 544 कैलोरी होती है।

वजन कम करने वालों के लिए खास बात

कई बार लोगों को लगता है कि साबूदाना खाने से लंबे समय तक पेट भरा रहता है। वो सोचते हैं कि पेट भरा रहेगा तो ओवर ईटिंग से बच जाएंगे। लेकिन साबूदाना किसी भी तरह से वजन कम करने वालों के लिए सही फूड़ नहीं है। आप रेग्युलर डायट में साबूदाना शामिल करते हैं तो इसकी कम मात्रा से भी आपको ज्यादा कैलोरी मिल जाती है। इतना ही नहीं कार्बोहाइड्रेट्स इनसुलिन लेवल बढ़ा देते हैं। इनसुलिन लेवल बढ़ने पर कई लोगों को भूख ज्यादा लगती है और वे ज्यादा खा लेते हैं। अगर आप वजन बढ़ाने के बारे में सोच रहे हैं तो साबूदाना की खीर बेस्ट ऑप्शन है। इससे आपको दूध और प्रोटीन भी साथ में मिलेगा।

और पढ़िए  –

लाइफस्टाइल  से जुड़ी खबरें यहाँ  पढ़ें

 हेल्थ से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

 

Tags