home page

Chanakya Niti: अगर भागेंगे पैसो के पीछे तो खो देंगे यह अमूल्य चीजें, आज ही छोड़ें लालच

 |  | 1669167220481
Chanakya Niti: अगर भागेंगे पैसो के पीछे तो खो देंगे यह अमूल्य चीजें, आज ही छोड़ें लालच
Chanakya Niti: चाणक्य नीति Chanakya Niti में बहुत सी ऐसी बातों का वर्णन किया गया है जिससे आपका जानना बेहद जरूरी है आचार्य चाणक्य ने मनुष्य के अंदर लालच स्त्री पुरुष वैवाहिक जीवन तक का वर्णन चाणक्य नीति में किया हुआ है जिसे जानना बेहद जरूरी है। या तो आप जानते ही होंगे कि आजीविका के लिए धन कमाना बेहद जरूरी है और हर मनुष्य धन कमाने के लिए संभव प्रयास तक करता है वही आप यह भी जानते होंगे कि मां लक्ष्मी बेहद ही चंचल होती है जहां उनकी कद्र नहीं होती घमंड किया जाता है वहां बड़े-बड़े राजा भी रंग हो जाते हैं वही चाणक्य नीति में आचार्य चाणक्य ने धन को लेकर कई नीतियां भी पता ही है यह तो आपने देखा ही होगा कि चंद रुपयों के लिए मनुष्य ऐसी चीजों का साथ तक छोड़ देता है ऐसा करना मूर्खता है ऐसा करने से व्यक्ति कंगाल हो जाता है और हाथ पर आया हुआ पैसा भी किसी न किसी वजह से चला जाता है।

धन के लालच में व्यक्ति को कभी नहीं छोड़ना चाहिए इन तीन चीजों का साथ

आत्मसम्मान

आत्म सम्मान हर व्यक्ति के अंदर होता है जो एक मनुष्य की जमा पूंजी होती है जिसे ना तो कभी खरीदा जा सकता है ना ही बेचा जा सकता है अगर धन कमाने का रास्ता बेहद कठिन होता है तो आप पीछे हट जाए अपना आत्मसम्मान दांव पर लगाकर कमाए हुए धन का कोई लाभ नहीं आत्म सम्मान को कर प्राप्त हुआ धन किसी कार्य के समान नहीं है वहीं अगर व्यक्ति के आत्म सम्मान पर ठेस पहुंच जाए तो व्यक्ति तिल तिल मरता रहता है वही पैसा कमाने के लिए व्यक्ति को कभी भी अपनी self-respect दाव पर नहीं लगानी चाहिए क्योंकि ऐसा व्यक्ति ना घर का रह जाता है ना घाट का।

धर्म 

जो धर्म को दृढ़ रखता है, वह करतार नहीं रखता। अर्थात जहां धर्म नहीं, वहां विद्या है, लक्ष्मी है। आरोग्य आदि का अभाव होता है, धर्म विहीन व्यक्ति शून्य के समान होता है। चाणक्य कहते हैं कि धन के लिए कभी भी धर्म की बलि नहीं देनी चाहिए। धन के लिए धर्म को छोड़ने वाला व्यक्ति अपनी प्रतिष्ठा खो देता है साथ ही लोभ की भावना उसे अधर्म के मार्ग पर ले जाती है।

प्रियजन

जब रिश्तों के बीच पैसा आ जाए तो वहां दरार आना तय है। चाणक्य कहते हैं कि प्यार, परिवार के लिए धन का त्याग करने से कभी भी पीछे नहीं हटना चाहिए क्योंकि पैसा एक पल के लिए साथ देगा लेकिन आपके प्रियजन मरते दम तक साथ देंगे। धन का अहंकार रिश्तों में खटास लाता है। रिश्ते की डोर एक बार टूट जाए तो फिर से जोड़ भी लें तो गांठ जरूर पड़ती है। इसलिए कभी भी प्यार को पैसे से मत तौलिये।

Disclaimer: खबर में दी गई जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है। हालांकि इसकी नैतिक जिम्मेदारी द Midpost की  नहीं है। आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से जरूर संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

Tags