home page

Inspirational Story: पहले जनता की सेवा फिर बच्चों को मुफ्त शिक्षा, नमन है इस पुलिसकर्मी को, DIG से मिल चुका है सम्मान

 |  | 1663235852019
viral

UP Bijnor Police Constable Vikas Kumar:  आज की तेज रफ्तार वाली दुनिया में सभी में एक दुसरे से आगे निकलने की होड़ लगी रहती है। अपने भविष्य को उजागर करने में लोग इतने व्यस्थ रहते है कि देश-दुनियां की बातों से उनको को नाता ही नहीं है. सभी की अपनी-अपनी दुनिया है.  लेकिन ऐसे बहुत कम ही लोग होते हैं जो अपने सीमित समय और संसाधनों का इस्तेामाल समाज को बेहतर बनाने के लिए करते हैं।  और ऐसे ही कुछ लोग बाकियों के लिए मिसाल बन जाते हैं. 

सलाम हें ऐसे लोगों को
आज हम बात कर रहे हैं उस जांबाज और दरियादिल पुलिसकर्मी जो पुलिस की कठिन नौकरी के बावजूद रोज शाम में छात्रों को मुफ्त में शिक्षा दे रहे हैं।  इनके नेक दिली ने लोगों का दिल जीत लिया है। सोशल मीडिया पर वे चर्चा का विषय बने हुए हैं। लोग उनकी सराहना कर रहे है। 

यूपी के इस कांस्टेबल ने जीता सभी का दिल
दरअसल, उत्तर प्रदेश पुलिस के कांस्टेबल विकास कुमार ने ज्वाइनिंग के बाद से ही छात्रों को मुफ्त में पढ़ाने के फैसला किया. उनका यही बड़ा फैसला अब समाज में वाहवाही का पात्र बना हुआ है.पूरी जिम्मेदारी से जनता की सेवा और सुरक्षा में जुटा यूपी पुलिस का यह कांस्टेबल कई सालों से घंटों ड्यूटी करने के बाद गरीब बच्चों को मुफ्त में शिक्षा देता रहा है, जिसके चलते कॉन्सटेबल की इस नेक पहल को देखते हुए डीआईजी मुरादाबाद से उन्हें सम्मान भी मिल चुका है. वहीं, ड्यूटी के साथ-साथ गरीब बच्चों को पढ़ा कर शिक्षा की अलख जगा रहे कांस्टेबल विकास कुमार के इस काम से विभाग के अधिकारी भी अपने आप को गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं.
बता दें कि कांस्टेबल विकास कुमार सहारनपुर के गांव कुरलकी खुर्द के रहने वाले हैं. विकास कुमार ने अपने गांव में 2014 से ऐसे गरीब बच्चों को पढ़ा रहे जो गरीबी के कारण स्कूली शिक्षा लेना में असमर्थ है पुलिस की ट्रेनिंग के बाद विकास कुमार की पोस्टिंग बिजनौर जिले में हुई. मौजूदा समय में विकास बिजनौर के थाना मंडावली के डायल-112 में तैनात हैं.

Tags